यूपी के 20 चयनित स्टार्टअप को आस्ट्रिया सरकार ने एक महीने तक अपने देश में कार्य करने का दिया मौका: AKTU News

AKTU News | AKTU Paper

लखनऊ। एकेटीयू के इनोवेशन हब की ओर से आयोजित यूपी आस्ट्रिया स्टार्ट अप एक्सचेंज कार्यक्रम का किया गया आयोजन उत्तर प्रदेश के स्टार्टअप अब आस्ट्रिया में भी बिजनेस करेंगे।

अपने स्टार्ट अप को धार देने के साथ ही वहां के विशेषज्ञों से मार्गदर्शन भी पा सकेंगे। साथ ही आस्ट्रिया में स्टार्टअप इकोसिस्टम को भी समझने का अवसर मिलेगा। आस्ट्रिया की टीम यूपी के 20 स्टार्ट अप का चयन करेगी। चयनित स्टार्ट अप को आस्ट्रिया में एक महीने तक रहने से लेकर कार्य करने का पूरा इंतजाम निःशुल्क रहेगा। साथ ही दो हजार यूरो भी मिलेगा।

वहीं एक महीना पूरा होने के बाद भी यदि कोई स्टार्टअप वहां रूककर अपने बिजनेस को बढ़ाना चाहता है तो वहां की सरकार पूरा सहयोग करेगी। स्टार्ट अप का चयन विभिन्न स्तरों पर परखने के बाद आस्ट्रिया की टीम जल्द ही इनोवेशन हब के माध्यम से करेगी। शनिवार को इसकी रूपरेखा डॉ० एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय के इनोवेशन हब की ओर से से कुलपति प्रो० जेपी पांडेय के निर्देशन में यूपी आस्ट्रिया स्टार्टअप एक्सचेंज कार्यक्रम के आयोजन के दौरान बनी।

कार्यक्रम में आस्ट्रिया के डिप्टी ट्रेड कमिश्नर बन्टं एन्डरसन सहित वहां के स्टार्ट अप की दस सदस्यीय टीम मौजूद रही। इस दौरान यूपी के करीब 70 स्टार्टअप ने भी प्रतिभाग किया। पैनल डिस्कशन में दिया प्रस्तुतिकरण कार्यक्रम के दौरान आस्ट्रिया और यूपी के स्टार्टअप ने अपने आइडिया का अधिकारियों के समक्ष प्रस्तुति दिया। इस दौरान विभिन्न क्षेत्रों के स्टार्ट अप और उनके आइडिया को देखकर अधिकारियों ने सरहाना की।

इसके बाद राउंड टेबल डिस्कशन का भी आयोजन किया गया। इसमें दोनों पक्षों ने अपने यहां स्टार्टअप को दी जाने वाली सुविधाओं, फंड, योजनाओं नीतियों की जानकारी साझा की। इस मौके पर एसटीपीआई ने एसटीपीआई द्वारा लांच की गई लीप अहेड योजना की जानकारी स्टार्टअप्स को दी। इसके तहत स्टार्टअप्स को एक करोड़ की फंडिंग दी जाएगी।

इस दौरान विश्वविद्यालय के एक स्टार्टअप फाउंडर कोड टेक्नॉलजी द्वारा एप्टेक कॉन्टेस्ट की घोषणा की गयी जिसमे स्टार्ट अप्स को निःशुल्क वेबसाइट और ऐप बनवाने का अवसर मिलेगा। इस मौके पर यूपीएलसी की विशेष सचिव नेहा जैन ने प्रदेश सरकार की ओर से स्टार्ट अप के लिए चलाई जा रही योजनाओं और फंड की जानकारी दी। साथ ही उन्होंने कहा कि प्रदेश में स्टार्ट अप को बढ़ावा देने के साथ ही इको सिस्टम विकसित करने का हर संभव प्रयास किया जा रहा है।

विषय स्थापना एसो० डीन डॉ० अनुज कुमार शर्मा ने किया। जबकि अतिथियों का स्वागत एवं इनोवेशन हब की जानकारी, इनोवेशन हब के हेड महीप सिंह ने किया। संचालन वंदना शर्मा ने किया वहीं धन्यवाद रितेश सक्सेना ने दिया। कार्यक्रम में एमएसएमई के असिस्टेंट कमिश्नर प्रभात रंजन, एसटीपीआई के निदेशक डॉ० प्रवीण द्विवेदी, सुधांशु रस्तोगी सहित अन्य लोग मौजूद रहे। डॉ पवन कुमार त्रिपाठी जनसंपर्क अधिकारी

Leave a Reply